सर्दियों में क्यों बढ़ जाता है जोड़ों का दर्द, जानिए वजह, शुरू करें ये काम

[ad_1]

सर्दियों में जोड़ों का दर्द:विशेषज्ञों के मुताबिक जोड़ों के दर्द या हड्डियों के दर्द का मौसम के बदलाव से कोई लेना-देना नहीं है। लेकिन किन्हीं कारणों से स्वास्थ्य संबंधी परेशानी कष्ट दे सकती है।

सर्दी कुछ लोगों के लिए अच्छी होती है तो कुछ के लिए बुरी। सर्दी आते ही जिन लोगों की हड्डियों और जोड़ों में दर्द शुरू हो जाता है, उनके लिए सर्दी का मौसम सहन करना काफी मुश्किल हो जाता है। बहुत से लोग यह नहीं समझ पाते हैं कि घुटने के दर्द या हड्डियों के दर्द के क्या कारण हो सकते हैं। लेकिन आपको बता दें कि सर्दी हो या गर्मी हड्डियों के दर्द को हल्के में लेना हानिकारक साबित हो सकता है। दर्द होने पर घर पर कोई मरहम या सिंकाई करना ही एकमात्र उपाय नहीं है। इस लेख में हम आपको बताएंगे कि आपका जोड़ों का दर्द लगातार क्यों बढ़ रहा है।

આ પણ વાંચો :   नेचुरल ग्लो के लिए हल्दी को अपने स्किनकेयर रूटीन में शामिल करें

विशेषज्ञों के मुताबिक जोड़ों के दर्द या हड्डियों के दर्द का मौसम के बदलाव से कोई लेना-देना नहीं है। लेकिन किन्हीं कारणों से यह दर्द स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के कारण हो सकता है। मौसम के 10 डिग्री गिरने पर गठिया से पीड़ित लोगों को जोड़ों के दर्द का अनुभव हो सकता है। इसका एक कारण यह भी है कि जब मौसम ठंडा होता है तो मांसपेशियां सख्त हो जाती हैं, जिससे मांसपेशियों को हिलाने-डुलाने में दिक्कत होने लगती है और हमारी हड्डियों में दर्द होने लगता है।

આ પણ વાંચો :   सर्दियों में हर महिला इन टिप्स को फॉलो करती है और इन फूड्स से परहेज करती है

आपको अपनी डाइट में कम लेकिन हेल्दी खाना ही खाना चाहिए, ताकि आपका वजन ना बढ़े। वजन बढ़ना भी जोड़ों के दर्द को बढ़ावा देता है। फलों में संतरा, कीनू मौसमी फल शामिल हैं। सर्दी के मौसम में गर्म खाना खाएं। साथ ही सब्जियों में गाजर, पालक, सरसों विटामिन जैसी चीजें खाएं, दर्द से राहत मिल सकती है। जोड़ों के दर्द से पीड़ित लोगों को विटामिन सी, डी, के युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए। शरीर में खून की कमी को दूर करने के लिए रोजाना गुड़ खाने से भी आपके शरीर में होने वाले दर्द से काफी आराम मिलता है।

આ પણ વાંચો :   Fashion Tips: ये 7 लेटेस्ट ब्लाउज़ डिज़ाइन सिंपल साड़ी को भी देंगे एलिगेंट और क्लासी लुक.

समाचार रीलों

अस्वीकरण: इस लेख में बताई गई विधि, उपचार, आहार, औषधि, उपाय का abp समर्थन नहीं करता है, इस विधि, विधि, अनुष्ठान, उपाय, आहार का पालन करने से पहले संबंधित विषय के विशेषज्ञ से सलाह लें।

नीचे स्वास्थ्य उपकरण देखें-
अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की गणना करें

आयु कैलक्यूलेटर के माध्यम से आयु की गणना करें

[ad_2]

Source link

Leave a Comment